Nitish Kumar over Union Cabinet reshuffle and PM Narendra modi

नई दिल्ली: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) के दिल्ली दौरे को केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार से जोड़कर देखा जा रहा है. लेकिन नीतीश ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल करना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) का विशेषाधिकार है. उन्होंने बताया कि वह दिल्ली अपने निजी दौरे पर आए हैं. नीतीश ने लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता चिराग पासवान (Chirag Paswan) के आरोप से भी इनकार किया कि उनकी पार्टी में दो फाड़ के पीछे JDU का हाथ है.

चिराग के आरोपों को नकारा

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि कुछ लोग ‘प्रचार’ पाने के लिए JDU के खिलाफ बोलते रहते हैं. कुमार ने कहा, ‘मैं इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देना चाहता. यह उनका आतंरिक मामला है.’ बता दें चिराग पासवान लगातार एलजेपी में टूट के लिए नीतीश को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. उन्होंने आज एक ओपन लेटर जारी कर अपना दर्द जाहिर किया है, इस पत्र में नीतीश के ऊपर जमकर भड़ास निकाली है.

चिराग के नीतीश पर आरोप

लोकजनशक्ति पार्टी (LJP) में दो फाड़ होने के बाद पार्टी के अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने खुला पत्र लिखकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी जमकर भड़ास निकाली है. उन्होंने अपने पत्र में कहा कि उनके पिता रामविलास पासवान (Ram vilas Paswan) ने कभी भी नीतीश कुमार से समझौता नहीं किया. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि नीतीश ने रामविलास पासवान को अपमानित करने और राजनीतिक तौर पर समाप्त करने के लिए कोई मौका नहीं छोड़ा.

चाचा को मंत्री बनाया तो…

 चाचा पशुपति कुमार पारस को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की अटकलों के बारे में दो बार सांसद निर्वाचित हो चुके चिराग ने जोर दिया कि अगर भाजपा पारस को एलजेपी उम्मीदवार के रूप में मंत्री पद की पेशकश करती है तो ऐसा निर्णय उन्हें स्वीकार्य नहीं होगा. चिराग पासवान के खिलाफ 5 सांसदों के गुट का नेतृत्व करने वाले पशुपति कुमार पारस को लोक सभा में एलजेपी नेता के रूप में मान्यता दी गई है. चिराग ने कहा कि पारस को निर्दलीय या किसी अन्य क्षमता में मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है, लेकिन एलजेपी उम्मीदवार के रूप में प्रतिनिधित्व उन्हें स्वीकार्य नहीं होगा. 

यह भी पढ़ें: UP: ओवैसी ने नए तरीके से ली एंट्री, वफादारी एग्रीमेंट और आवेदन के साथ मांगी फीस

नीतीश क्यों आए दिल्ली?

केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल और उसमें जेडीयू के किसी नेता को मंत्री बनाए जाने संबंधी अटकलों के बारे में सवाल पूछे जाने पर कुमार ने कहा कि यह पूरी तरह से प्रधानमंत्री का विशेषाधिकार है और इसे लेकर कोई मुद्दा ही नहीं है. नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्रिमंडल के संभावित विस्तार से उनके दौरे को जोड़े जाने की खबरों को विशेष तवज्जो नहीं देते हुये कहा कि वह तो यहां अपनी आंखों की जांच करवाने आए हैं.

यह भी पढ़ें: मंत्री जी बोले- तारों पर गिलहरियों के चलने से बत्ती हो रही गुल, जनता ने लिए मजे

क्या होगा केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार?

बता दें, केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं. राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. इसमें कुछ नए चेहरे शामिल होंगे. हालांकि सरकार या सत्तारूढ़ दल की तरफ से ऐसी किसी भी चर्चा की पुष्टि नहीं की है. 

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *